Saturday, 17 November, 2012

लापरवाही बहू की पर मुसीबत ससुरालवालों की

शादी को अभी दो महीने ही हुए थे और सोहनी फर वाला कार्डिगन पहन कर खाना पका रही थी .स्टोप की फ्लेम से कार्डिगन के बाजू के फर ने आग पकड़ ली जो तेजी से कंधे से होते हुए खुले बालों तक जा पहुंची और उसी तेजी से उसने कार्डिगन को उतार फेंका ,मोड़तोड़ कर आग बुझा दी. बस जरा से बाल ही झुलसे थे .कुछ सेकेंड्स साँस लेते हुए समझने में लगाये कि ये हुआ क्या आखिर .पतिदेव ऑफ़िस गये हुए थे और सासुमां घर के बगीचे में पड़ोसन से बतियाँ रही थीं.जब अंदर आयीं तो उन्हें पहले तो स्वेटर दिखाया, खुद भी तभी देखा कि कितना जला है और फिर बताया कि कैसे जला ,सुनते ही वह तो यह सोचकर घबरा गयीं कि खुदा ना खास्ता अगर सोहनी को सच मे आग से कुछ नुक्सान पहुंचा होता तो पुलिस तो उन्हें पूछ -पूछ कर तंग कर डालती.

2 comments:

  1. भगवान हर जगह हमारी सहायता के लिए तत्पर है, हम ही मुर्ख हैं जो समझ नहीं पाते, काश वो हमे समझने की शक्ति भी दे तो जीवन कितना सुखमय हो जाये.....

    ReplyDelete
  2. oh my God ! भगवान ने आपसे बहुत काम कराने थे सो कुछ भी नहीं होने दिया...

    ReplyDelete